उत्कृष्टं पद्धतियां और अभिनवता

स्थानीय स्वशासन को सुदृढ़ करने और ग्रामीण विकास में तेज लाने के लिए 22 और 23 जुलाई, 2010 को आयोजित कार्यशाला में प्रस्तुति


22 जुलाई
डीएवीपी

योजना प्लरस-ईपीआरआई-पीपीटी

ईपीआरआई - भावी पंचायतें
ग्रामीण विकास कार्यशाला के लिए योजना प्लस
सहयोग रणनीतियां
प्रशिक्षण और संचार कार्यनीतियां
क्षेत्रीय प्रकाशन निदेशालय
युवा शक्ति का प्रयोग करना
मनरेगा
पीआईबी- ग्रामीण विकास
एसजीएसवाइर्-आईईसी
गीत-नाटक- दूरदर्शन
वाटरशेड - डीओएलआर
पीएमजीएसवाई पर प्रस्तुति
आईएवाई पर प्रस्तुरति
23 जुलाई
डीडीडब्यू प् एस - जल
ग्रामीण विकास के लिए आईसीटी अभिनवता
एकीकृत मीडिया कार्य योजना - पंचायती राज मंत्रालय
टीएससी
समूह
समूह I.
समूह II.
समूह III.
समूह IV.
समूह V
प्रशिक्षण पर समीक्षा बैठकें
पत्र सं. एम-12017/1/2010 दिनांक 29 जुलाई, 2010
पत्र सं. एम-12017/1/2010 दिनांक17 अगस्तु, 2010.
विजन प्ला न दस्तावेज

प्रस्तुलतियां-

आरएपी ग्रामीण विकास मंत्रालय कार्यशाला 26 अगस्त9 2010
के लिए फार्मेट
दिल्ली में विजन दस्ता्वेज की प्रस्तुंति
एसआईपीआरडी का प्रस्ताजव
एसआईआरडी विजन
एपी प्रयोगशाला से भूमि तक
प्रयोगशाला से भूमि केएनटीपीडीए तक
विजन प्लाान प्रशिक्षण एसआईआरडी बैठक 26-08-10
23 सितंबर, 2010 को प्रयोगशाला से भूमि पहल के प्रशिक्षण और कार्यान्व यन की समीक्षा के लिए बैठक
नई दिल्लीा में एसआईआरडी के निष्पाठदन की समीक्षा के लिए 6.8.2010 को आयोजित बैठक का कार्यवृत्ति
पत्र सं. एम.12017/1/2010-प्रशिक्षण दिनांक 01 सितंबर, 2010 (ग्रामीण विकास के राज्य सचिव)
पत्र सं. एम.12017/1/2010-प्रशिक्षणदिनांक 01 सितंबर, 2010 (एसआईआरडी).
23 सितंबर, 2010 को प्रशिक्षण कार्यकलापों की प्रगति की एसआईआरडी समीक्षा की बैठक तथा

प्रयोगशाला से भूमि पहल पर अभिविन्यापस कार्यशाला पर पृष्ठकभूमि टिप्पाणी
ग्रामीण विकास मंत्रालय के प्रशिक्षण कार्यकलापों की समीक्षा हेतु 23 सितंबर, 2010 को आयोजित बैठक के कार्यवृत्त

प्रस्तुबतियां-

एाआईआरडी समीक्षा बैठक-[1]
समूह-I - एसजीएसवाई.
आंध्र प्रदेश-नई दिल्लीस प्रस्तु ति-संशोधित
आईएंडबी-सीआरएस प्रस्तुआति - ग्रामीण विकास - अंतिम
प्रयोगशाला 2 भूमि कार्यनीति1.
उड़ीसा-प्रयोगशाला 2एल और कार्यनीति1
राजस्थाान-प्रयोगशाला से भूमि विपणन
सभी के लिए उत्त्र प्रदेश- सिरडप प्रयोगशाला से भूमि पहल सीबी और टी
उत्तकराखंड प्रयोगशाला से भूमि तक
पश्चिेम बंगाल.